(All Shayari Collection)

हर बात केहकर समजाई नहीं जाती,
कुछ बाते दिल में छिपाई नहीं जाती,
आँखे भी बात करने का एक जरिया है,
पर हर किसीके आँखों की बाते समजी नहीं जाती
By,
Mukta Megha