(All Shayari Collection)


अपनो को दूर होते देखा ,
सपनो को चूर होते देखा !
अरे लोग कहते हैँ कि फूल कभी रोते नही ,
हमने फूलोँ को भी तन्हाइयोँ मे रोते देखा !